रास्ते में इन वस्तुओं का दिखना होता है अशुभ, इनसे दूरी बनाकर चलें….

0

विष्णु पुराण में दिए गए निर्देशों के अनुसार यदि ऐसी कोई वस्तु आपको गलती से दिखाई भी दे जाए तो उससे दूर होकर ही निकलना चाहिए। क्या आप जानते हैं कि विष्णु पुराण के अनुसार सड़क पर चलते समय दिखने वाली चीज़ें एक संकेत लेकर आती हैं। इन चीज़ों का खास मकसद होता है और यह हमारे जीवन पर काफी असर भी करती हैं। इसलिए कहते हैं कि सड़क पर चलते समय इन चीज़ों को देखने से बचना चाहिए। विष्णु पुराण में दिए गए निर्देशों के अनुसार यदि ऐसी कोई वस्तु आपको गलती से दिखाई भी दे जाए तो उससे दूर होकर ही निकलना चाहिए।

भस्म यानी राख

यदि रास्ते में भस्म दिखाई दे तो इससे भी दूर होकर ही निकलना चाहिए। यज्ञ-हवन से प्राप्त भस्म पवित्र होती है और यदि इस पर पैर लगता है तो इसे अशुभ माना जाता है। लेकिन भस्म के अलावा किसी भी प्रकार का अन्य कूढ़ा-कचरा या गंदगी आपको दिखाई दे तो उससे भी दूरी बनाकर ही रखें। क्योंकि शास्त्रों के अनुसार इस गंदगी के संपर्क में आने से पवित्रता भंग हो जाती है।

dust bin

बाल

बाल शास्त्रों के अनुसार बालों को भी अपवित्र माना गया है। कई बार ऐसा होता है कि किसी व्यक्ति के टूटे हुए केश यानी बाल रास्ते में दिखाई देते हैं। तो यदि आपको रास्ते में बाल दिखाई दे तो इनसे दूर होकर ही निकलना चाहिए। इन्हें लांघना भी नहीं चाहिए।

स्नान का पानी

गांव या कस्बों में तो आमतौर पर घर के बाहर ही लोगों को स्नान करते देखा जा सकता है। लेकिन शहरों में ऐसा नहीं होता, परंतु फिर भी आपको राह से गुजरते हुए किसी व्यक्ति के स्नान के बाद फैला हुआ पानी दिखाई दे, तो तुरंत पीछे होकर दूसरी ओर से अपना रास्ता बना लें। विष्णु पुराण में दिए गए निर्देशों के अनुसार स्नान के बाद फैला हुआ पानी गंदा और अपवित्र होता है। इस पानी के संपर्क में आने से हमारी पवित्रता नष्ट हो जाती है। इसलिए कभी भी आपको ऐसा पानी दिखे तो इससे दूर होकर ही चलें।

bathing-

अस्थि या हड्डी

सड़क हमें एक जगह से दूसरे जगह जाने के लिए मार्ग जरूर दिखाती है, लेकिन साथ ही इसी सड़क पर कई दुर्घटनाएं भी होती हैं। वाहन चालकों की लापरवाही के चलते सड़क पर कई दुर्घटनाएं होती रहती हैं जिसमें कई बार जानवरों (जैसे कुत्ते, सांप आदि) की मौत हो जाती है। ऐसे में मृत प्राणी की हड्डियां सड़क पर बिखरी दिखाई देती हैं तो उनसे दूर होकर रास्ता पार करना चाहिए। क्योंकि मृत प्राणी की अस्थियों के संपर्क में आने के बाद स्नान करना बहुत आवश्यक हो जाता है।

कांटे

बालों के बाद यदि रास्ते में चलते समय हमें कोई भी नुकीली वस्तु या फिर कांटे ही दिखाई दें तो उनसे भी हमें दूरी बनाकर ही निकलना चाहिए। विष्णु पुराण के अनुसार कांटों को अशुभ नहीं, वरन् परेशानी देने वाला माना गया है। इसलिए यदि ये दिखाई दें तो उन्हें साइड पर कर दें ताकि किसी अन्य व्यक्ति को यह चुभ ना जाए।

thorn

Loading...

Leave a Reply