मिथुन राशि राशिफल 2017

0

नौकरी और व्यवसाय

साल की शुरुआत नौकरी व व्यवसाय में भाग-दौड़ से होगी। आपके अत्याधिक प्रयासों के बावजूद नौकरी में औसत रूप से फलों की प्राप्ति होती रहेगी। किंतु इससे निराश या हताश बिलकुल न हों और अपने प्रयासों को करते रहें। क्योंकि साल के मध्य से बनी हुई योजनाएँ पूरी हो सकती हैं। आपके द्वारा किये गए प्रयास ही आपको अपने क्षेत्र में एक अलग पहचान दिलाने में सफल साबित हो सकते हैं। जिससे विरोधी पक्ष भी आपकी तारीफ करने पर मजबूर हो जायेंगे। सहयोगियों की सहायता से मान-सम्मान बढ़ सकता है। वैदिक ज्योतिष के अनुसार 2017 में आय के कुछ नए स्रोत सामने आ सकते हैं। साल के अंत में आपके धन प्राप्ति के योग हैं। यह धन आपको व्यापार में सफलता से मिल सकता है। जो लोग नौकरी में हैं, उन्हें तरक्की मिलने से वेतन वृद्धि हो सकती है। आप अपनी सारी ऊर्जा अपने नए प्रोजेक्ट में लगाएँ और अपने प्रयासों को दुगना करें। व्यावसायिक क्षेत्र में आपके बदलाव आने की संभावनाएँ हैं। यदि आप बहुत समय से विदेश में रहकर नौकरी करना चाह रहे थे या अपना कोई व्यवसाय स्थापित करना चाह रहे थे तो यह समय अनुकूल फल प्रदान कर सकता है। शेयर बाजार या प्रॉपर्टी का काम करने वाले लोगों को यह समय लाभ दे सकता है। सट्टा व लॉटरी से धन कमाने के चक्कर से दूर रहें।

(3/5)

आर्थिक स्थिति

धन संबंधी मामलों में आपके ख़र्चे कुछ बढ़ सकते हैं। मिथुन राशिफल 2017 के अनुसार घरेलू ख़र्चों की पूर्ति के लिए आपको लोन लेना पड़ सकता है। अपने शौक पूरे करने के लिए भी आप कुछ ज्यादा ख़र्चा कर सकते हैं। अपने ख़र्चों को नियंत्रित करने की कोशिश करें। जहाँ से हाथ खींच सकते हैं खींच लें। धन का आगमन कुछ मिलाजुला रहेगा अथवा यह भी संभावना बनती है कि धन आता तो रहेगा परन्तु आपके पास टिक नहीं पाएगा। बहुत सी ज़िम्मेदारियों को निभाने में आपके धन का व्यय होगा। वर्ष के दूसरे भाग से कुछ राहत मिलती नज़र आएगी और आपकी धन संबंधी अड़चनें दूर होंगी। आय के नए स्रोत सामने आ सकते हैं।

(3.5/5)

शिक्षा

मिथुन राशि के छात्रों को थोड़ी अधिक मेहनत करनी होगी। आपकी यह मेहनत रंग भी लाएगी। ऐसी स्थिति में आपको धैर्य और बुद्धिमत्ता से अपना काम संभालना होगा। प्रतियोगी परीक्षा में भाग ले रहे विद्यार्थियों को काफी सफलता मिलने की संभावना है। वर्ष के दूसरे भाग से आपकी परेशानियाँ कुछ कम होती नज़र आ रहीं हैं। अपनी मेहनत के लिए आपको प्रशंसा व सम्मान मिल सकता है। जो छात्र विदेश जाकर उच्च शिक्षा प्राप्त करना चाहते है उनके लिए यह बेहतरीन मौका है।

(3.5/5)

पारिवारिक जीवन

मिथुन राशि के जातकों के लिए यह साल जहाँ एक और आर्थिक मामलों में सावधानी रखने की ओर इशारा कर रहा है, वहीं दूसरी ओर घर-परिवार में अत्यधिक ख़ुशी भरा माहौल रहने की भी संभावना है। इस दौरान माता से आपका लगाव बढ़ेगा। उनकी भावनाओं व प्यार को महत्व दें। आपको पारिवारिक लोगों से मिलने के अधिक अवसर प्राप्त होंगे। दोस्तों का आपको भरपूर साथ मिल सकता है। वे आपके व्यवसाय में मददगार साबित हो सकते हैं। लेकिन सगे भाई-बंधुओं से कुछ मन-मुटाव रहने की संभावना है। इसी वजह से कुछ तनावपूर्ण स्थितियां पैदा हो सकती हैं। अपनी योग्यता द्वारा अपने संबंधों में संतुलन बनाए रखे। 2017 में मिथुन का भविष्यफल इंगित करता है कि संतान की सफलता से आपके उत्साह में वृद्धि होगी। जीवनसाथी और माँ को कुछ स्वास्थ्य संबंधी तकलीफें परेशान कर सकती हैं। घर में सुख सुविधाओं से संबंधित कुछ नया सामान ख़रीदने का भी योग बन रहा है।

(2.5/5)

प्रेम संबंध

आपके रिश्तों में अगर पहले से ही कोई तनाव चल रहा है तो उसे सुलझाने की कोशिश करें। बेवजह अपने पार्टनर पर शक करके संबंधों को और ख़राब न करें। प्यार में पूरी तरह से पारदर्शिता रखें। गर्मजोशी को नोक-झोंक में बदलने से रोकें। अपने प्रेमी के साथ कहीं घूमने जाने का प्रोग्राम बनाएँ। इससे आपके प्रेम संबंधों में प्रगाढ़ता आएगी। 2017 के मिथुन फलादेश के अनुसार जो लोग अपने रिश्तों को विवाह में बदलना चाह रहें हैं, उनके लिए यह बेहतरीन समय है। नए प्रेमियों के लिए भी काफी अच्छा मौका है। अगर किसी को प्रोपोज करना चाह रहें हैं तो गेंद आपके पाले में है। साल के मध्य से प्यार में और डूब जाने का मन करेगा इसलिए इस पल का आनंद लेते रहें।

(3/5)

स्वास्थ्य

आपको स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहने की आवश्यकता है। बाहर का खाना खाने से बचें अन्यथा फूड पॉयजनिंग से पीड़ित हो सकते हैं। आवश्यकता से अधिक परिश्रम आपको स्वास्थ्य की हानि दे सकता है इसलिए बेहतर है की आप पूर्ण विश्राम भी करें। त्वचा संबंधी विकार हो सकते हैं। जो महिला व पुरुष किसी लंबी बीमारी से पीड़ित हैं, उन्हें चिकित्सक से परामर्श करते रहना चाहिए। स्वास्थ्य का ख़याल रखें। योग, प्राणायाम व नियमित ध्यान करें, लाभ होगा। ग्रह-नक्षत्रों की मानें तो 2017 में गाड़ी चलाते समय सावधान रहें व गति को नियंत्रित रखें। लापरवाही से वाहन चलाने वालों से उचित दूरी बनाकर रखें।

(4/5)

उपाय

  • अधिक से अधिक बाग़वानी करें या पेड़ पौधे लगाएँ।
  • गाय को पालक खिलाएँ।
  • बुधवार को गरीब बच्चों में कापी-किताबें बांटें।
  • नियमित रूप से श्रीसूक्तं और लक्ष्मी चालीसा का पाठ करें।
  • गुरूवार को विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें।
Loading...

Leave a Reply